Breaking News

जानिए ‘चमकी’ बुखार क्या है, इसके लक्षण,कारण व बचाव Ravikaushambi.com


जानिए ‘चमकी’ बुखार क्या है, इसके लक्षण,कारण व बचाव



बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी नाम के बुखार की चपेट में आने से कई बच्चे अपनी जान गवां चुके हैं. इस बुखार की वजह से मासूम बच्चों की मौत का आंकड़ा 140 के पार पंहुच चुका है. ‘एक्यूट इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम’ यानी ‘चमकी बुखार’ दरअसल एक तरह का मस्तिष्क ज्वर होता है. इम्युनिटी कमजोर होने की वजह से करीब 1 से 8 साल के बीच की उम्र के बच्चे इस बीमारी की चपेट में ज्यादा आते हैं.

मीठी लीची के लिए प्रसिद्ध बिहार का मुजफ्फरपुर इन दिनों कुछ और वजह से समाचारों में है. इस साल मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से अब तक 100 बच्चों का निधन हो चुका है. साल 1995 से ही यह रहस्यमय बीमारी यहां के बच्चों को अपना शिकार बनाती आई है. पिछले दो दशक में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम की वजह से देश में 5000 से अधिक बच्चों की मौत हो चुकी है.
हर साल मई और जून के महीने में बिहार के अलग-अलग कस्बे के बच्चे इस बीमारी की चपेट में आते हैं और बच्चों के मरने का सिलसिला शुरू हो जाता है. बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही और डॉक्टरों की असंवेदनशीलता ने पीड़ित बच्चों के परिजनों को और परेशान किया है. 1 से 15 साल की उम्र के बच्‍चे इस बीमारी से ज्‍यादा प्रभावित होते हैं
चमकी बुखार वास्तव में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस ) है। इसे दिमागी बुखार भी कहा जाता है। यह इतनी खतरनाक और रहस्यमयी बीमारी है कि अभी तक विशेषज्ञ भी इसकी सही वजह का पता नहीं लगा पाए हैं। चमकी बुखार में वास्तव में बच्चों के खून में सुगर और सोडियम की कमी हो जाती है। सही समय पर उचित इलाज नहीं मिलने की वजह से मौत हो सकती है।
स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक, गर्मियों में तेज धूप और पसीना बहने से शरीर में पानी की कमी होने लगती है। इस वजह से डिहाइड्रेशन, लो ब्लड प्रेशर, सिरदर्द, थकान, लकवा, मिर्गी, भूख में कमी जैसे लक्षण महसूस हो सकते हैं। चमकी बुखार के लक्षण भी ऐसे ही हैं।

चमकी बुखार के लक्षण

1. लगातार तेज बुखार रहना
2. बदन में लगातार ऐंठन होना
3. दांत पर दांत दबाए रहना
4. सुस्ती चढ़ना
5. कमजोरी की वजह से बेहोशी आना
6. चिउंटी काटने पर भी शरीर में कोई गतिविधि या हरकत न होना
7. बुखार के साथ घबराहट भी शुरू होती है और कई बार कोमा में जाने की स्थिति भी बन जाती है।
क्रेडिट : khabarnajar.com

No comments

Dosto kahi par bhi aapko problum hoti hai to aap comment karke pooch sakte hai Ham Aap ka Reply Jaroor Denge Aur Aapki Help karenge .
To Dosto Share Kare Aur Apne Dosto ko Bhi Bataye Jisse Aapke Dosto ki Bhi Help Ho Sake .
Thank you Keep Visiting